previous arrow
next arrow
Slider
Home राज्य मध्यप्रदेश दौसा SP के नाम से हर महीने 4 लाख रुपए ले रहा...

दौसा SP के नाम से हर महीने 4 लाख रुपए ले रहा था दलाल, कंपनी के मालिक ने पुलिस पर भी लगाए गंभीर आरोप

दौसा। एसीबी जयपुर की टीम ने बुधवार को बांदीकुई एसडीएम पिंकी मीणा को 10 लाख की रिश्वत मांगते और दौसा एसडीएम पुष्कर मित्तल को ट्रैप किया है। इस पूरे मामले में अब तक पुलिस की मिलीभगत का बड़ा खुलासा हुआ है। एसीबी ने नीरज मीणा नाम के एक दलाल को पकड़ा है। वह दौसा एसपी मनीष अग्रवाल के नाम पर हाइवे का निर्माण कर रही कंपनी के अधिकारियों को धमकाकर रिश्वत ले रहा था।

अब तक की जांच में पता चला है कि नीरज मीणा द्वारा कंपनी के काम में रुकावट नहीं डालने और वाहनों को जब्त नहीं करने की एवज में हर माह 4 लाख रुपए लिए जा रहे थे। साथ ही केसों को रफा-दफा करने के एवज में 10 लाख रुपए मांगे थे। यह भी पता चला है कि नीरज पिछले 7 महीने से 4 लाख रुपए ले रहा था। यानी वह अब तक कंपनी से 28 लाख रुपए ले चुका है। जबकि 10 लाख रुपए पहले लिया था। यानी दलाल 38 लाख की रिश्वत ले चुका है। एसीबी ने दलाल को गिरफ्तार कर लिया है।

दलाल के ठिकानों की जांच कर रही एसीबी
दलाल नीरज मीणा दौसा लालसोट में पेट्रोल पंप का मालिक बताया जा रहा है। अब एसीबी उसके ठिकानों की तलाशी कर रही है। दलाल के घर और ऑफिस में भी एसीबी की टीम सर्च कर रही है। इस मामले में पुलिस पर भी बेवजह कंपनी के वाहनों को जब्त करने का आरोप है।

कंपनी के मालिक ने की थी शिकायत
जानकारी के मुताबिक, दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस हाइवे का निर्माण करने वाली कंपनी के मालिक ने एसीबी से अधिकारियों के बारे में शिकायत की थी। इसमें बताया गया था कि प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी सड़क निर्माण काम में रुकावट नहीं डालने के लिए भारी रिश्वत की मांग कर रहे हैं। इसमें एसडीएम पिंकी मीणा ने 10 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी। साथ ही दौसा के एसपी मनीष अग्रवाल के लिए भी रिश्वत की मांग की गई थी।


Source link

Most Popular