Covid-19: राजस्थान में फिर कोरोना महाविस्फोट! पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 37 मौतें,9046 नए पॉजिटिव केस

COVID-19 के मामूली लक्षण के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने संशोधित दिशानिर्देश किए जारी

जयपुर: राजस्थान में फिर कोरोना वायरस से महाविस्फोट हुआ है. शनिवार को पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 37 लोगों की मौत हो गई. वहीं 9 हजार 46 नए पॉजिटिव केस सामने आये हैं. अगर बात करें राजधानी जयपुर की तो जयपुर में सारे रिकॉर्ड ध्वस्त हो गए हैं. जयपुर में पिछले 24 घंटों में 1484 नए संक्रमित दर्ज हुए हैं.

जोधपुर में मौत का तांडव:
प्रदेश के जोधपुर जिले में कोरोना की चपेट में आने से एक ही दिन में 17 लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा अजमेर में एक, बांसवाड़ा में एक,भीलवाड़ा में एक, बीकानेर में एक दौसा में एक,डूंगरपुर में एक,हनुमानगढ़ में एक, जयपुर में तीन,जालोर में एक,झालावाड़ में एक,करौली में दो,कोटा 1, सीकर में दो और उदयपुर में तीन लोगों की कोरोना से मौत हुई. राजस्थान में अब तक कोरोना की चपेट में आने से कुल 3 हजार 109 लोगों की मौत हो चुकी हैं. जबकि पॉजिटिव मरीजों की संख्या कुल 404355 पहुंची.

जानिए, किसे जिले में कितने नए मरीज मिले:

अगर बात करें नए पॉजिटिव मरीजों की, तो अजमेर 301, अलवर 591, बांसवाड़ा 62, बारां 146, बाड़मेर 62, भरतपुर 91, भीलवाड़ा 407, बीकानेर 326, बूंदी 47, चित्तौडगढ़ 283, चूरू 168, दौसा 130, धौलपुर 117, डूंगरपुर 155, श्रीगंगानगर 76, हनुमानगढ़ 63, जयपुर 1484, जैसलमेर 47,जालोर 43, झालावाड़ 88, झुंझुनूं 68, जोधपुर 1265, करौली 65, कोटा 1049, नागौर 82, पाली 62, प्रतापगढ़ 70, राजसमंद 195, सवाई माधोपुर 209, सीकर 182, सिरोही 100, टोंक 129, उदयपुर 783 नए पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं.

जयपुर में कोरोना का तांडव:  

प्रदेश के सबसे बड़े कोविड हॉस्पिटल RUHS में रिकॉर्ड मरीज भर्ती हुए हैं. पिछले 24 घंटे में 212 कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती किए गए हैंं.
भर्ती मरीजों की इस संख्या के साथ ही अस्पताल के अब तक के सारे रिकॉर्ड टूटे हैं. पिछले साल नवंबर में अस्पताल में सर्वाधिक 707 कोरोना मरीज भर्ती थे, लेकिन फिलहाल अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या 775 पहुंची. अस्पताल अधीक्षक डॉ.अजीत सिंह ने मोर्चा संभाल रखा हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन भी मुस्तैद हैं. अस्पताल में व्यवस्थाओं को और मजबूत किया जा रहा हैं.

अलर्ट मोड़ पर चिकित्सा विभाग:
प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए चिकित्सा विभाग अलर्ट मोड़ पर हैं.ऑक्सीजन सिलेंडर की मॉनिटरिंग की संभागीय आयुक्तों को जिम्मेदारी सौंपी हैं. चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने सभी संभागीय आयुक्तों को पत्र लिखा हैं. जिलों में उपलब्ध ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता, उपलब्ध सिलेंडरों की रोजाना समीक्षा के निर्देश दिए हैं. अपने क्षेत्राधिकार के जिलों में ऑक्सीजन की डिमांड के हिसाब से समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए हैं. जरूरत पड़ने पर किराए पर सिलेंडर लेने के भी निर्देश दिए हैं. जिलों में संचालित सभी ऑक्सीजन प्लांट के सुचारू संचालन की मॉनिटरिंग के निर्देश दिए हैं. सभी संभागीय आयुक्तों के सहयोग के लिए राज्य स्तर पर टीम का गठन किया गया हैं. आईएएस रोहित गुप्ता, ED (EPM) ललित मोरोडिया, एडिशनल डायरेक्टर (HA) ए एन माथुर,NHM-SNO डॉ.प्रेम सिंह टीम में शामिल हैं.