previous arrow
next arrow
Slider
Home न्यूज़ राजस्थान आसाराम के अधिवक्ता नहीं पहुंच पाए कोर्ट, अब मामले में 8 मार्च...

आसाराम के अधिवक्ता नहीं पहुंच पाए कोर्ट, अब मामले में 8 मार्च को होगी फिर सुनवाई

जोधपुर। छिंदवाड़ा स्थित अपने ही गुरुकुल की छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के मामले में आजीवन जेल में रहने की सजा काटने के खिलाफ आसराम की ओर से राजस्थान उच्च न्यायालय में याचिका पेश कर फैसले को चुनौती दी है। मामले में हाई कोर्ट मुख्य पीठ में आज सुनवाई होनी थी लेकिन आसाराम की ओर से पैरवी के लिए दिल्ली से वरिष्ठ अधिवक्ताओं के नहीं पहुंच पाने के कारण मामले में अगली सुनवाई के लिए 8 मार्च  तारीख तय की गयी है। आसाराम के अधिवक्ता प्रदीप चौधरी ने कोर्ट को बताया कि इस मामले में पैरवी करने के लिए दिल्ली से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता आने वाले थे जो कि किसी कारणवश नहीं आ पाए।

इनकी याचिका पर भी होनी थी सुनवाई 

इसको लेकर आसाराम के स्थानीय अधिवक्ता प्रदीप चौधरी ने मामले में अगली तारीख देने का अनुरोध किया जिस पर राजस्थान उच्च न्यायालय के न्यायाधीश संदीप मेहता व न्यायाधीश देवेंद्र कच्छवाह की खंडपीठ ने आगामी 8 मार्च को सुनवाई के लिए तारीख निर्धारित की है। इसके अलावा मामले में आरोपी सुचिता उर्फ शिल्पी तथा आसाराम का रसोईया प्रकाश चंद्र और प्रकाश की याचिका पर भी सुनवाई होनी थी।

मध्यप्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया

ये है आसाराम से जुड़ा मामला : वर्ष 2013 में जोधपुर के मणाई गांव स्थित आसाराम के एक आश्रम में छिंदवाड़ा आश्रम में पढ़ने वाली नाबालिक ने अपने प्रवास के दौरान आसाराम पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था और इसको लेकर दिल्ली में जीरो नंबर की एफआईआर दर्ज कराई थी। जिसके बाद यह मामला जोधपुर में दर्ज किया गया। आसाराम को मध्यप्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया गया।

लगातार खारिज हो रही याचिकाएं

आसाराम पर पोक्सो एक्ट, जुवेनाइल जस्टिस एक्ट, दुष्कर्म, आपराधिक षडयंत्र और दूसरे कई मामलों के तहत जोधपुर में सुनवाई हुई, साथ ही आसाराम सहित सह आरोपियों को जोधपुर की जेल में रखा गया। आसाराम को जोधपुर की एससीएसटी कोर्ट के तत्कालीन जज मधुसूदन शर्मा की कोर्ट ने अप्रैल 2018 को दोषी करार दिया था, जिसके बाद कोर्ट ने आसाराम  को जीवन की आखिरी सांस तक जेल में रहने और एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई थी। वर्ष 2013 से लेकर वर्ष 2021 तक हुए तकरीबन 8 वर्षो से आसाराम जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद है। आसाराम की ओर से बीच में समय-समय पर जमानत याचिकाएं भी लगाई गई लेकिन उनके लगातार खारिज हो जाने से आसाराम को निराशा ही हाथ लगी।

हमारें अन्य चेनल देखने के लिए निचे दिए वाक्यों पर क्लिक करे
वीडयो चेनल, भीलवाड़ा समाचार,  सभी समाचारों के साथ नवीनतम जानकारियाँराष्ट्रीय खबरों के साथ जानकारियाँ, स्थानीय, धर्म, नवीनतम |

Most Popular