अस्पताल से 5 विचाराधीन कैदी फरार:कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर किया गया था क्वारेंटाइन, सुरक्षाकर्मी सोते रहे और छत का दरवाजा तोड़कर भाग निकले

चित्तौड़गढ़
जिला चिकित्सालय में क्वारेंटाइन किए गए 5 विचाराधीन कैदी सोमवार सुबह करीब साढे चार बजे कोविड सेंटर से फरार हो गए। गार्ड ने इसकी सूचना आला अधिकारियों को दी तो हड़कंप मच गया। मौके पर एएसपी हिम्मत सिंह देवल, डिप्टी मनीष शर्मा और थाना अधिकारी दर्शन सिंह पहुंच गए थे।

चिकित्सालय में कैदियों के लिए अलग से क्वारेंटाइन सेंटर बना है। भागने वाले कुलदीप, पिंटू, मुकेश उर्फ पप्पू, संजय, पप्पू अलग-अलग थानों में पकड़े गए थे। इनको गिरफ्तार करने के बाद इनका सैंपल लिया गया था, जो पॉजिटिव आया था। इसके बाद इनको यहां क्वारेंटाइन किया गया था। इनके अलावा यहां 4 और विचाराधीन कैदी क्वारेंटाइन हैं। खास बात यह है कि इंचार्ज सहित 6 गार्ड की ड्यूटी थी। इसके बावजूद भागने की हवा इनलोगों को नहीं लगी।

साथ में बंद रहे कैदी ने दी सूचना

सुबह एक अन्य कैदी ने गार्ड को पांचों के फरार होने की सूचना दी। जब गार्ड ने अंदर जाकर देखा तो 5 कैदी मौके पर नहीं थे। जांच करने पर पता चला कि कैदियों ने छत के दरवाजे को ऊंचा कर दिया था। इसके बाद छत के रास्ते से पास के मोर्चरी गृह के छत पर छलांग लगाकर भाग निकले। मोर्चरी गृह के छत की ऊंचाई भी काफी कम है, इसलिए उन्हें भागने में भी आसानी हुई।

शहर में नाकाबंदी

घटना की सूचना मिलने पर कंट्रोल रूम से बोलकर पूरे शहर में नाकाबंदी शुरू कर दी। इसके साथ ही एएसपी ने तुरंत दरवाजे को वेल्डिंग कर पूरी तरह से बन्द करने के लिए कहा। अभी तक बन्दियों का पता नहीं चला। बता दें कि इससे पूर्व भी 2020 में भी दो बंदी क्वारेंटाइन सेंटर में कांच की खिड़की तोड़कर फरार हो गए थे। बाद में इनको पकड़ लिया गया था।

1 COMMENT