Homeआध्यातमबागेश्वरधाम वाले 'बाबा पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप ,भारत का हर भक्त...

बागेश्वरधाम वाले ‘बाबा पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप ,भारत का हर भक्त अंधविश्वासी है,क्या है पूरा सच?

 बाबा के दरबार में बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं। लोगों का दावा है कि बाबा मन की बात जान लेते हैं और फिर समस्या का समाधान बताते हैं। बागेश्वर धाम सरकार की कथा इन दिनों रायपुर में चल रही है। नागपुर विवाद के बाद बाबा सुर्खियों में हैं।

बागेश्वर धाम के कथा वाचक पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों सुर्खियों में हैं। बागेश्वर महाराज के नाम से प्रसिद्धि पा चुके धीरेन्द्र शास्त्री लोगों के मन की बात पढ़ने का दावा करते हैं। लोगों का विश्वास है कि अगर बागेश्वर धाम के दिव्य दरबार में एक बार अर्जी लग जाए तो किस्मत बदल जाती है। महाराज लोगों की समस्या बिना बताए ही पढ़ लेते हैं और फिर उनके मन की बात को बताते हुए कागज पर समस्या का समाधान बताते हुए लिखते हैं कि जल्दी ही आपकी प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गड़ा में स्थित सिद्ध स्थान बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) देशभर में प्रसिद्ध हो चुका है। बागेश्वर धाम के दरबार में बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं और अपनी अर्जी लगाते हैं। लेकिन बड़ा सवाल है कि आखिर बाबा लोगों के मन की बात कैसे जान जाते हैं?

महाराष्ट्र की एक संस्था ने बागेश्वरधाम वाले ‘बाबा’ धीरेंद्र शास्त्री (Dhirendra Shashtri) पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था। जिसके जवाब देते हुए धीरेन्द्र शास्त्री ने से बातचीत में कहा कि क्या भारत में हनुमान जी की भक्ति अंधविश्वास है ? सस्ती लोकप्रियता पाने के चक्कर में ये सब बोला गया। उन्होंने कहा कि ये आदि काल से चलता रहा है। वहां सात दिन की कथा की। दो दिन का दिव्य दरबार लगाया। हमारे पास कोई कानूनी चुनौती नहीं आई है। अगर इस विषय पर कोई झंझट है तो रायपुर आ जाए। उन्होंने कहा की हम कोई चमत्कारी नहीं हैं। हम कोई भगवान नहीं हैं, ईश्वर नहीं हैं। साधारण इंसान हैं। हनुमान जी के भक्त हैं। हनुमान जी का जो भरोसा है, गुरु का जो भरोसा है। अपने इष्ट पर भरोसा है वह जो दरबार में कहलवाते हैं। वह सच है, उसमें थोड़ा भी संदेह नहीं है। मिश्निरियां हैं लगी रहती है। सस्ती लोकप्रियता पाने का ये चक्कर है। हम चाहेंगे कि वो टीवी वालों का समय बर्बाद न करें। न हमारा या खुद का करें। धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि क्या भारत में हनुमान जी की भक्ति अंधविश्वास है। तो भारत का हर भक्त अंधविश्वासी है। रामजी का विरोध करने वाले साजिश कर रहे हैं।

बागेश्वर सरकार का दावा है कि उनके पास ऐसी शक्ति है कि वो लोगों के मन की बात जान जाते हैं। वो कहते हैं कि उनके पास ऊपर से कनेक्शन है। उन्हें ऊपर से सिंग्नल मिलता है। इस सिंग्नल के जरिए ही लोगों की समस्या जानते हैं। बागेश्वर महाराज की इन्ही शक्तियों के कारण बागेश्वर धाम में पहुंचने वाले भक्तों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

आखिर कैसे जान जाते हैं मन की बात?
बागेश्वर महाराज लोगों की मन की बात कैसे जान जाते हैं? यह एक बड़ा सवाल है। दरअसल, कुछ एक्सपर्ट का दावा है कि यह एक आर्ट होता है। जब हम कुछ सोचते हैं तो हमारे चेहरे में उसी तरह के भाव आते हैं जिसे कुछ लोग पढ़ सकते हैं। जैसे की ब्रेल लिपि के सहारे से बिना देख पाने वाले लोग पढ़ लेते हैं। ठीक उसी तरह मेंटेलिस्ट होते हैं जो लोगों के चेहरों के भाव को पढ़ लेते हैं। देश-दुनिया में कई ऐसे मेंटेलिस्ट हैं जो इस तरह से भाव को पढ़ लेते हैं।

हाव-भाव और शारीरिक चेष्टाओं के अलावा सामने वाले व्यक्ति का व्यवहार कैसा है। इसके साथ ही उसके बात करने का तरीका क्या है यह उसके चेहरे पर साफ नजर आता है। अगर किसी के पास मेंटेलिस्ट का आर्ट आता है तो वो भी इस तरह से दूसरों के मन की बात को समझ सकता है। इसके साथ ही कुछ लोगों के पास सम्मोहन हन की भी आर्ट होती है जो लोगों के मन की बात को पढ़ लेते हैं। सुहानी नाम की एक लड़की है जो इस तरह से लोगों के मन की बात जान जाती है।

कई तरह के बयान देते हैं महाराज
बागेश्वर सरकार अक्सर हिन्दुओं को जगाने की बात करते हैं। बड़े-बड़े मुद्दों पर भी वो अपने बयान देते हैं। बागेश्वर महाराज कहते हैं कि मैं अपने परिवार के लिए नहीं बल्कि लोगों को जगाने का काम कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि मैं धर्मांतरण के खिलाफ लोगों को जागने के लिए काम कर रहा है।

एअर इंडिया :- पेशाब करने का आरोपी शंकर मिश्रा पर चार महीने के लिए प्रतिबंध ,नो फ्लाई लिस्ट क्या है? 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -