पंडेर में सुहागिनी महिलाओं ने की दशामाता की पूजा अर्चना

पंडेर में सुहागिनी महिलाओं ने की दशामाता की पूजा अर्चना

स्मार्ट हलचल भागचंद टेलर

पंडेर:- 6 अप्रैल उपतहसील पंडेर कस्बे में चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि मंगलवार को सुहागिनी महिलाओं द्वारा दशामाता का पूजन किया गया।
वहीं इससे पूर्व महिलाओं ने मिट्टी से घर आंगन की लिपाई पुताई कर आंगन का शुद्धिकरण किया। इसी के साथ धर्मनगरी पंडेर कस्बे में महिलाओं द्वारा मंगलवार को पीपल के वृक्ष का पूजन कर दशा माता का पर्व श्रद्धा और उमंग के साथ मनाया गया।


महिलाओं ने किया विशेष श्रृंगार
मधु देवी सेन ने बताया हैं कि इस दिन भगवान विष्णु के स्वरूप पीपल वृक्ष की पूजा की जाती हैं। इस दिन सौभाग्यवती महिलाएं कच्चे सूत का 10 तार का डोरा बनाकर उसमें 10 गांठ लगाती हैं। और पीपल वृक्ष की प्रदक्षिणा करते हुए उसकी पूजा करती हैं। पूजा करने के बाद पीपल के वृक्ष के नीचे बैठकर ही कथा सुनती हैं। इसके बाद परिवार के सुख-समृद्धि की कामना करते हुए सूत का डोरा गले में बांधती हैं। महिलाओं द्वारा इस दिन व्रत रखा जाता हैं और एक समय भोजन किया जाता हैं।
रुकमणी देवी लक्ष्कार ने बताया हैं कि इस दिन महिलाएं सज धज श्रृंगार कर पीपल के पेड़ की परिक्रमा कर विशेष रूप से पूजा अर्चना करती हैं। परिवार में सुख, शांति, समृद्धि, आरोग्य की कामना की जाती हैं।
सुशीला देवी टेलर ने बताया हैं कि महिलाएं अपने अपने घरों में मीठे व्यंजन, चूरमा, लड्डू आदि बनाकर पीपल के वृक्ष की पूजा अर्चना कर, दशा माता को भोग लगाती हैं और दशा माता की कहानी सुनकर व्रत खोलती हैं।