previous arrow
next arrow
Slider
Home भीलवाड़ा शाहपुरा में चंबल परियोजना श्रमिकों का सम्मेलन, संभागीय अध्यक्ष की मौजूदगी में...

शाहपुरा में चंबल परियोजना श्रमिकों का सम्मेलन, संभागीय अध्यक्ष की मौजूदगी में श्रमिक हितों के लिए आंदोलन करने का निर्णय

शाहपुरा -(मूलचन्द पेसवानी)
शाहपुरा में संचालित चंबल परियोजना में काम करने वाले श्रमिकों के साथ हो रहे शोषण व उनको आंतकित कर संचालन करने वाली कंपनी मेगा इंजिनियरिंग इन्फ्रा लि. द्वारा कार्य से निकालने व अपने हक व अधिकारों को सुरक्षित करने के लिए शाहपुरा ब्लॉक के श्रमिकों का सम्मेलन दिलखुशाल बाग स्थित हनुमान मन्दिर में आयोजित हुआ।
राजस्थान संयुक्त कर्मचारी मजदूर महासंघ के संभागीय अध्यक्ष सीताराम वैष्णव, इन्टक के जिला उपाध्यक्ष कन्हैयालाल शर्मा, बीएमएस के महेश शर्मा, तकनीकी कर्मचारी नेता देवकरण जाट, तेजेन्द्र सिंह नरूका, श्याम बांगड़ की मौजूदगी में आयोजित सम्मेलन में शाहपुरा ब्लॉक के ठेका अनुबंध के तहत काम करने वाले सभी श्रमिकों ने बताया कि शाहपुरा ब्लॉक में चंबल परियोजना का संचालन व संधारण करने वाली मेगा इंजिनियरिंग इन्फ्रा लि. द्वारा अब एक सिक्युरिटी कंपनी के मार्फत उनको कार्य पर रखा तथा उनका जमकर शोषण किया जा रहा है। श्रम विभाग के निर्धारित मानदंडों के विरूद्व कई गुना ज्यादा कार्य कराकर उनको मेहनताना काफी कम दिया जा रहा है, शोषण की शिकायत करने पर उनको काम से हटा दिया जाता है।
शाहपुरा ब्लॉक के प्रवक्ता पंकज चौधरी ने बताया कि पूर्व में भी स्थानीय प्रशासन को ज्ञापन देकर मांगों के संबंध में कार्रवाई की मांग की है। उनके द्वारा जिला स्तर पर श्रम न्यायालय में समझौता अधिकारी उपश्रम आयुक्त के यहां उनके द्वारा प्रकरण पंजीबद्व कराने के बाद उस पर 11 जनवरी नियत की है।
राजस्थान संयुक्त कर्मचारी मजदूर महासंघ के संभागीय अध्यक्ष सीताराम वैष्णव ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि श्रमिक हितों के लिए ही उनका संगठन काम करता आया है। गत माह महासंघ की ओर से कार्यवाही की जिस पर समझौता अधिकारी के यहां दो बैठकें हो चुकी है। श्रमिकों की मांगों को उपश्रम आयुक्त ने जायज ठहराया है पर कंपनी के प्रतिनिधि के न आने स ेअब 11 जनवरी की तारीख तय हुई है। वैष्णव ने सभी श्रमिकों को विश्वास दिलाया कि उनके हितों के लिए संगठन की ओर से पुरजोर ताकत लगायी जा रही है। उन्होंने कंपनी व जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कमीशनखोरी को छोड़कर श्रमिकों के हितों के लिए पहल करे वरना श्रमिकों का शाहपुरा में महाआंदोलन होगा। वैष्णव ने साफ तौर पर कहा कि शाहपुरा ब्लॉक के पंप हाउस व अन्य कार्य के श्रमिकों को कंपनी ने बंधुआ श्रमिक मानकर पिछले चार सालों से शोषण किया है, अधिकारियों ने अपना रवैया नहीं सुधारा तो महासंघ पिछले चारों सालों का हिसाब मांगेगा तथा अधिकारियों की निर्धारित आय से अधिक संपति की जांच करायी जायेगी।
इन्टक के जिला उपाध्यक्ष कन्हैयालाल शर्मा ने कहा कि शाहपुरा ब्लॉक के श्रमिकों के लिए वो सदैव संघर्ष के लिए तैयार है और संयुक्त रूप से अधिकारियों से वार्ता कर श्रमिकों को राहत दिलाने का प्रयास किया जायेगा। शर्मा ने श्रमिकों से एकजुट होने व शोषण के खिलाफ आवाज बुलंद करने का आव्हान करते हुए कहा कि किसी भी श्रमिक का शोषण बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। भामस के श्रमिक नेता महेश शर्मा ने कहा कि श्रम कानूनों के तहत श्रमिक अपना अधिकार मांग रहा है। अधिकारी शोषण को बंद करे अन्यथा संगठन सीधे अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोलेगा। सम्मेलन को तकनीकी कर्मचारी नेता देवकरण जाट, तेजेन्द्र सिंह नरूका ने भी संबोधित किया।
शाहपुरा ब्लॉक के प्रवक्ता पंकज चोधरी ने सभी का स्वागत करते हुए श्रमिकों के शोषण की जानकारी दी तथा अब तक किये गये संगठनात्मक कार्यो का विवरण दिया। भेरूलाल ने श्रमिक एकता पर जोर देकर विश्वास दिलाया कि शाहपुरा के साथ ही कोटड़ी, आसींद, बदनोर ब्लॉक के श्रमिकों को एकत्र शाहपुरा में विशाल प्रदर्शन किया जायेगा।
11 जनवरी को फैसला नही ंतो 12 से शाहपुरा में जलापूर्ति बंद व विशाल प्रदर्शन के साथ आंदोलन होगा
शाहपुरा ब्लॉक के प्रवक्ता पंकज चोधरी ने बताया कि आज के सम्मेलन में यह निर्णय लिया गया कि 11 जनवरी को जिला मुख्यालय पर शाहपुरा ब्लॉक के श्रमिकों के मामले में समझौता अधिकारी उप श्रम आयुक्त के यहां उनके पक्ष में फैसला होने की उम्मीद है। फैसला होने के बाद कंपनी की ओर से उनको राहत नहीं दी जाती है तो 12 जनवरी से शाहपुरा ब्लॉक में जलापूर्ति बंद की जायेगी तथा जिले के श्रमिकों को शाहपुरा में विशाल प्रदर्शन कर आंदोलन किया जायेगा।

Most Popular