जिला कलेक्टर ने किया अभय कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण,जताई चिंता

जिला कलेक्टर ने किया अभय कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण,जताई चिंता

@ महेन्द्र धाकड़
चित्तौड़गढ़। शहर में आए दिन हो रही बाइक चोरी और छोटी मोटी चोरियों को रोकने के लिए जिला कलेक्टर ने सोमवार को अभय कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने आने वाले 7 दिनों में सभी 90 कैमरों को लाइव करने का आदेश दिया जबकि अभी केवल 36 कैमरों पर ही लाइव प्रसारण की सुविधा उपलब्ध है।
जिला कलेक्टर ताराचन्द मीणा ने शहर की सुरक्षा व्यवस्थाओं को जानने के लिए अभय कमांड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पुलिस अधिकारियों एवं सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के संयुक्त निदेशक से इसकी पूरी जानकारी भी ली।

– 36 कैमरों में ही होता है लाइव प्रसारण

सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग संयुक्त निदेशक गिरिराज कथीरिया ने बताया कि चित्तौड़गढ़ शहर में कैमरों के लिए 130 पोल्स लगाए गए हैं जिस पर 90 कैमरे लगाए गए हैं। 17 पोल्स पर लगाए गए 36 कैमरे का लाइव प्रसारण हो रहा है, जबकि 54 कैमरों में केवल रिकॉर्डिंग की जा रही है। इस पर कलेक्टर मीणा ने सभी 90 कैमरों को आगामी 7 दिनों में लाइव करने के निर्देश दिया।

– 39 किमी तक बिछाई गई ऑप्टिकल फाइबर लाइन

समस्त कैमरों के लिए शहर में 39 कि.मी. तक ऑप्टिकल फाइबर लाइन बिछाई गई है और सभी विभागों को भी उच्च क्षमता की इंटरनेट सेवाएं दिए जाने की कोशिश की जा रही है। जिला कलक्टर मीणा ने पुलिस अधिकारियों से किसी भी घटना के घटित होने पर की जाने वाली कार्रवाई के बारे में जानकारी ली।
इस पर पुलिस उप अधीक्षक मनीष कुमार ने बताया कि अभय कमांड कन्ट्रोल सेन्टर के द्वारा ही मोटर साईकिल चोरो के गिरोह और शहर में बहुचर्चित 1 करोड़ की चोरी का खुलासा हुआ। साथ ही सेन्टर की मदद से गिरफ्तारी की जा सकी थी। वर्तमान में भी कोई भी घटना घटित होने पर कन्ट्रोल रुम को सूचित किया जाता है।

– 361 कैमरों की है जरूरत, चित्तौड़ के पास केवल 90 उपलब्ध

शहर की पूरी सुरक्षा के लिए 361 कैमरों की जरूरत है, वहीं, सिर्फ 90 कैमरे ही चित्तौड़ के पास उपलब्ध है। पुलिस विभाग द्वारा शेष 271 कैमरों की डिमांड जयपुर पुलिस मुख्यालय में मांग करने के भी निर्देश दिए। साथ ही जिला कलेक्टर ने सभी नगर पालिकाओं में भी सुरक्षा व्यवस्था के लिए अभय कमाण्ड सेन्टर की जरूरत का असेसमेंट करने और जरूरत के हिसाब से राशि का प्रावधान करने का नोडल अधिकारी नगर परिषद कमिश्नर रिंकल गुप्ता को निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here