Homeअजमेरपूर्व सभापति शेखावत से जिला प्रशासन मांगे माफी, नहीं तो करेंगे आंदोलन,दिया...

पूर्व सभापति शेखावत से जिला प्रशासन मांगे माफी, नहीं तो करेंगे आंदोलन,दिया गया अल्टीमेटम,District administration should apologize

पूर्व सभापति शेखावत से जिला प्रशासन मांगे माफी, नहीं तो करेंगे आंदोलन,दिया गया अल्टीमेटम
*अजमेर व्यापारिक महासंघ ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी,District administration should apologize

(हरिप्रसाद शर्मा )
अजमेर/स्मार्ट हलचल/महासंघ के अध्यक्ष महेंद्र बंसल और महासचिव रमेश लालवानी ने कहा कि एनजीटी में नगर निगम की ओर से दिए हलफनामे में पूर्व सभापति सुरेंद्र सिंह शेखावत के खिलाफ टिप्पणी किए जाने से व्यापारियों में रोष है। उन्होंने कहा कि अजमेर के आनासागर झील को पिछले वर्षों अजमेर के ही नागरिको के द्वारा श्रमदान करके मिट्टी निकालकर पानी की क्षमता बढ़ाने का कार्य किया गया और यह अजमेर के लोगों के लिए ही नहीं, परन्तु आने जाने वाले जायरीन और पर्यटकों के लिए भी दर्शनीय रमणीक स्थल हैं।

पिछले अनेक माह से आनासागर की दुर्दशा पर शहर के प्रत्येक नागरिक को पीड़ा है और उनमें रोष व्याप्त है। इस स्मार्ट सिटी कहलाने वाले अजमेर शहर के अति प्रतिष्ठित नागरिक सुरेन्द्र सिंह शेखावत (लाला बन्ना) पूर्व सभापति नगर निगम, जोकि होटल व्यवसाय से जुड़े और राजा साइकिल नगर रोड क्षेत्र व्यापारिक संगठन के अध्यक्ष हैं। उनके विरुद्ध जिला प्रशासन स्मार्ट सिटी के चेयरमेन के माध्यम से नेशनल ग्रीनी ट्रिब्यूनल एनजीटी भोपाल के कोर्ट में अनर्गल टिप्पणी करके उनके पास कोई कार्य नहीं होने प्रशासनिक अधिकारियों को अनावश्यक परेशान करने और नगर निगम की आय को रोकने जैसे अनेक आरोप लगाए हैं।

अजमेर व्यापारिक महासंघ इस संबंध में जिला प्रशासन को चेतावनी देता है कि अजमेर व्यापारिक महासंघ से जुड़े सुरेंद्र सिंह शेखावत जोकि एक अत्यन्त प्रतिष्ठित नागरिक के भावनाओं को और उनकी प्रतिष्ठा को पहुंचाई गई, उस ठेस के लिए माफी नहीं मांगेगा तो अजमेर व्यापारिक महासंघ अपने अपने प्रतिष्ठानों व बाजारों को बन्द करके जिला प्रशासन के विरुद्ध अजमेर को बन्द करके विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

RELATED ARTICLES