Homeभीलवाड़ा"सब्र करने वाले के साथ होता है अल्लाह"

“सब्र करने वाले के साथ होता है अल्लाह”

“सब्र करने वाले के साथ होता है अल्लाह”

ईदुलअजहा पर्व से पूर्व कुरान ख्वानी के साथ लगाये पौधे
ईदुलअज़हा ईद का त्यौहार 17 जून को,तैयारियां जोरों पर

काछोला 14 जून -स्मार्ट हलचल/इस्लाम में सब्र की बड़ी फजीलत आई है, कुरआन में फरमाया गया- ‘सब्र करने वालों के साथ अल्लाह है। ‘ सब्र यह है कि अपनी कोई भी चीज चाहे वह कितनी ही बड़ी क्यों न हो, हाथ से जाती रहे तो, हम न हिम्मत खो बैठे और न रोएं धोएं। अल्लाह के फैसले पर राजी रहें और इस यकीन को बनाए रखें कि लिया उसी ने है, जिसने दिया था।यह बात काछोला में कुरान पाठ व पौधरोपण के दौरान हाफिज मोहम्मद रजा ने कही,
वही उन्होंने कहा कि अल्लाह ने कुरान में प्रशंसा करते हुए फरमाया की सब्र से दुनिया मे अल्लाह की मदद और आख़िरत में अल्लाह की ख़ुशनूदी हासिल होगी,अल्लाह के रसूल मोहम्मद साहब (सअव) ने फरमाया की मोमिन का मामला बडा अजीब है,उसके सारे मामले उसके लिए भलाई के ही होते है। इसी तरह माहे रमजान में भी सब्र का इम्तिहान अल्लाह लेते है इसके बदले में नेक इंसान बन जाते है जो इंसानियत को बर्बाद होते कभी भी नही देख सकते है,इसलिये हमे दैनिक कार्यक्रम से नमाजें पढ़ना,तहज्जुद,कुरान तिलावत,अच्छे कर्म करना,दान,स्वैच्छिक इबादत,जिक्र,मोहम्मद साहब (सअव)के बताए राह का अनुसरण करना।

ईद 17 जून सोमवार को –

17 जून सोमवार को ईदुल अजहा का त्योहार मनाया जाएगा।

सदर हाजी शरीफ मोहम्मद मंसूरी ने बताया कि
सुबह सवा आठ बजे ईदगाह में होगी नमाज,
आठ बजे जलसा जामा मस्जिद से रवाना होगा। यहाँ से जलसा जामा मस्जिद के पेश इमाम हाफिज मोहम्मद रजा साहब के सानिध्य में शुरू होगा।

RELATED ARTICLES