previous arrow
next arrow
Slider
Home न्यूज़ राजस्थान जयपुर संभाग के 15 हजार से भी अधिक कार्यालयों का निरीक्षण

जयपुर संभाग के 15 हजार से भी अधिक कार्यालयों का निरीक्षण

जयपुर । जयपुर संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा एवं पांच जिलों के जिला कलक्टर, एडीएम, एसडीएम, सीईओ, बीडीओ व ब्लाक एवं जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा शुक्रवार को संभाग के 15 हजार 30 कार्यालयों का पर्यवेक्षणीय विजिट किया गया। जिसके अंतर्गत अलवर के 3676, दौसा के 1667, जयपुर के 4256, झुंझुनूं के 2456 एवं सीकर के 2513 कार्यालयों का पर्यवेक्षणीय विजिट विभिन्न टीमों द्वारा किया गया।
संभागीय आयुक्त कार्यालय की 12 सदस्यीय टीम व विभिन्न विभागों के 1000 से अधिक अधिकारियों द्वारा किये गये पर्यवेक्षणीय विजिट का उद्देश्य राजकीय कार्यालयों की स्थिति में व कार्य निस्तारण में और लोक सेवाओं की प्रदायगी में उल्लेखनीय सुधार परिलक्षित करना है। निरीक्षण के दौरान टीमों द्वारा कार्यालयों में उपलब्ध कराये जाने वाली सेवाओं की सूची दर्शाने वाले बोर्ड, कार्यालय खुलने व बंद होने का समय, कार्यालय पद्धति व राजकार्य निस्तारण में सुधार, योजनाओं की धरातल पर क्रियान्विति की समीक्षा हेतु लाभार्थियों को सेवाओं की प्राप्ति का भौतिक सत्यापन, परिचय पत्र व यूनिफॉर्म, दो कॉलम वाले उपस्थिति रजिस्टर का संधारण आदि का निरीक्षण किया गया। इसके अन्तर्गत जयपुर संभाग के 6603 विद्यालयों का निरीक्षण किया वहीं 1096 आयुर्वेद औषधालयों, 772 किसान सेवा केन्द्रों, 32 परिवहन कार्यालय, 483 आंगनबाड़ी केन्द्र सहित विभिन्न कार्यालयों का पर्यवेक्षणीय विजिट किया गया।
ग्रामीणों ने की संभागीय आयुक्त से अस्पताल पीएओं व सीएमएचओ की शिकायत
संभागीय आयुक्त डॉ. समित शर्मा ने सर्वप्रथम अजीतगढ़ के बाबा नारायणदास राजकीय अस्पताल का निरीक्षण किया जहां निरीक्षण के दौरान कई अव्यवस्थाएं उजागर हुई। ग्रामीणों ने भी अस्पताल पीएमओ डॉ. ओपी वर्मा की जमकर शिकायत की इस पर संभागीय आयुक्त ने अव्यस्थाओं पर नाराजगी जताते हुये अस्पताल में संस्थागत प्रसव, ओपीडी, ऑपरेशन आदि की जानकारी मांगी। शर्मा ने कहा कि लापरवाही बदर्शस्त नहीं की जायेगी उन्होंने एसडीएम को पीएमओ को कारण बताओं नोटिस जारी कर तीन दिन में रिपोर्ट देने के निर्देश दिये। सीएमएचओ द्वारा नियम विरूद्ध किये गये डेपूटेशन को भी रद्द करने की भी बात कही। इसके पश्चात राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय उप तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण किया उप तहसील कार्यालय में निरीक्षण के दौरान ई-मित्र प्लस मशीन को ऑपरेटर से चलवाकर उपसके उपयोग की जानकारी ली। संभागीय आयुक्त ने मशीन के महत्व के बारे में बताते हुये ऑपरेटर को टॉफी देकर उत्साहवद्र्धन किया। इस दौरान गौचर भूमि के अतिक्रमण, उप तहसील के चारदीवारी करवाने सहित विभिन्न दिशा-निर्देश दिये। चौमू नगर पालिका में अधीशषी अधिकारी सहित 8 कार्मिकों के लेट आने पर एसडीएम को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। सामुदायिक केन्द्र गोविन्दगढ़ में 26 कर्मचारियों में से 13 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। उपस्थित सभी कर्मचारियों ने निर्धारित ड्रेस व आईडी धारण किये हुये थे इयके पश्चात राजकीय वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृत विद्यालय शाहपुरा का निरीक्षण किया गया।
अतिरिक्त संभागीय आयुक्त सेवाराम स्वामी द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र थानागांजी का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि अस्पताल द्वारा दि जाने वाली सेवाओं एवं सुविधाओं का बोर्ड नहीं लगाया गया है एवं अस्पताल में निशुल्क दवा एवं निशुल्क जांच की सुविधा मरीजों को नियमित रूप से उपलब्ध करवाई जा रही है।

जयपुर संभाग के 15 हजार से भी अधिक कार्यालयों का निरीक्षण, देखें तस्वीरें
दो जिला स्तरीय अधिकारियों को चार्जशीट देने के कलक्टर को दिये निर्देश
संभागीय आयुक्त ने सीकर दौरे के दौरान पर्यवेक्षणीय लापरवाही व अन्य अनियमिताओं के लिये दो जिला स्तरीय अधिकारियों सीकर सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी व महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक सुमन पारीक को चार्जशीट देने के निर्देश दिये। सीएमएचओ डॉ. अजय चौधरी द्वारा पर्यवेक्षणीय लापरवाही व राज्य सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन का उल्लघंन कर कार्यक्रम आयोजित करने का दोषी पाया गया।

Most Popular