previous arrow
next arrow
Slider
Home भीलवाड़ा खटवाड़ा पंचायत के रानीखेड़ा गांव में गन्ने के खेत में घुसा पैंथर,...

खटवाड़ा पंचायत के रानीखेड़ा गांव में गन्ने के खेत में घुसा पैंथर, वनपाल के हाथ पर पैंथर ने मारा झपटा नहीं हो सका पैंथर का रेस्क्यू ग्रामीणों में दहशत

कैलाश शर्मा
खटवाड़ा- पंचायत क्षेत्र के राणीखेडा गांव के एक किसान के खेत पर बोये गन्ने के खेत में बुधवार प्रात काल 11 बजे एक बड़ा पैंथर छिपा होने की सूचना पर ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया किसान ब्रह्मा जाट ने बताया कि हर रोज की भांति प्रातकाल 10:00 बजे खेत पर पहुंचा और गन्ने के खेत में गया खेत के बीच में बड़ा पैंथर देखकर घबराकर हो हुल्ला किया । होहुल्ला सुनकर आस-पड़ोस के लोग मौके पर आ गए पड़ोसियों के साथ फिर गन्ने के खेत में घुसे पैंथर दौड़कर हमारे ऊपर हमला करने की कोशिश की जान बचाकर खेत से बाहर निकले और इसकी सूचना बिगोद पुलिस को दी । देखते ही देखते मौके पर हजारों की संख्या में भीड़ इकट्ठी हो गई ।

previous arrow
next arrow
Slider

ग्रामीणों की सूचना पर बिगोद पुलिस मौके पर पहुंची भीड़ को गन्ने के खेत से दूर हटाया एवं वन विभाग को सूचना दी सूचना पर कोटडी फॉरेस्टर लादू लाल शर्मा सहायक वनपाल कमलेश रेगर रामअवतार शर्मा रविंद्र सिंह भेरु तेली जाकिर हरि सिंह मांडलगढ़ रेंजर संजय शर्मा मौके पर पहुंच गन्ने के खेत में पैंथर की तलाश शुरू की । इस दौरान गन्ने के खेत में छिपा पैंथर कर्मचारी राम अवतार शर्मा पर अचानक हमला कर दिया जिससे रामावतार का हाथ जख्मी हो गया । पैंथर की पुष्टि होने पर मौके पर ही आए अधिकारियों के पास पैंथर को पकड़ने के कोई संसाधन नहीं होने के चलते कोटा और उदयपुर से रेस्क्यू टीम बुलाने की बात कही खबर लिखे जाने तक वन विभाग की टीम गन्ने के खेत को चारों तरफ से घेर रखा था । गन्ने के खेत में पैंथर कहां से आया इसकी जानकारी किसी के पास नहीं है दूर-दूर तक जंगल भी नहीं है वन विभाग के पास नहीं है कोई संसाधन पैंथर पकड़ने आई वन विभाग की टीम के पास लकड़ीयों के अलावा कोई संसाधन नहीं होने पर भी वन विभाग के कर्मचारी जान जोखिम में डाल गन्ने के खेत में घुस गए । गनीमत यह रही थी। कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ विभाग के कर्मचारियों के पास लकड़ियां होने से रामावतार शर्मा पर हमला करते पैंथर को हो हुल्ला करके साथी कर्मचारियों ने छुड़ाया । वही मौके पर मौजूद कर्मचारीयों ने बताया कि पैंथर को रेस्क्यू के लिए लिए को जिला वनरक्षक देवेंद्र प्रताप सिंह धागावत को अवगत करा दिया गया धागावत मौके पर पहुंच, स्थिति का मौका मुहाना कर पैंथर को रेस्क्यू किया जाएगा कर्मचारियों ने बताया कि जब तक पैंथर रेस्क्यू नहीं हो जाता तब तक वन विभाग की टीम पैंथर पर नजर रखेगी ।

Most Popular