किसान प्रदर्शन: सुबह 11 से शाम 5 बजे तक किसानों का विरोध प्रदर्शन, जंतर-मंतर पर सुरक्षा सख्त

नई दिल्ली: संसद के मानसूत्र के दौरान केन्द्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की प्रदर्शन की योजना के मद्देनजर मध्य दिल्ली में जंतर-मंतर पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. जंतर-मंतर, संसद भवन से कुछ मीटर की दूरी पर ही है.

सुबह 11 से शाम 5 तक किसान करेंगे विरोध प्रदर्शन:
अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं, पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवानों को तैनात किया गया है.  पुलिस की सुरक्षा के साथ 200 किसानों का एक समूह बसों में सिंघू बॉर्डर से जंतर-मंतर आएगा और वहां पूर्वाह्न 11 बजे से शाम पांच बजे तक विरोध प्रदर्शन करेगा.

कोविड-19 प्रोटोकोल के साथ शांतिपुर्ण आंदोलन की अपील: 
संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) को इस बारे में एक शपथपत्र देने के लिए कहा गया है, जिसमें कहा जाए कि कोविड-19 के सभी नियमों का पालन किया जाएगा और आंदोलन शांतिपूर्ण होगा. इस साल 26 जनवरी को एक ट्रैक्टर परेड के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में हुई हिंसा के बाद यह पहली बार है, जब अधिकारियों ने विरोध प्रदर्शन करने वाले किसानों को शहर में प्रवेश की अनुमति दी है.

तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग:
गौरतलब है कि दिल्ली से लगे टिकरी बॉर्डर, सिंघू बॉर्डर तथा गाजीपुर बॉर्डर पर किसान पिछले साल नवम्बर से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. उनकी मांग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दी जाए.  हालांकि सरकार का कहना है कि ये कानून किसान हितैषी हैं. सरकार और प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच कई दौर की वार्ता बेनतीजा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here