previous arrow
next arrow
Slider
Home न्यूज़ राष्ट्रीय आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया? सीआईसी की फटकार के बाद सरकार ने...

आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया? सीआईसी की फटकार के बाद सरकार ने दिया यह जवाब

नई दिल्ली
आरोग्य सेतु ऐप को लेकर केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) की फटकार के बाद केंद्र सरकार ने स्पष्टीकरण जारी किया है। सरकार ने बताया कि राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केंद्र (एनआईसी) ने उद्योग और शैक्षणिक क्षेत्र के वॉलनटिअर्स के सहयोग से आरोग्य सेतु ऐप तैयार की है। इससे पहले खबर थी कि ऐप के डिवलेपमेंट को लेकर जानकारी न होने पर सीआईसी ने तमाम चीफ पब्लिक इन्फॉर्मेशन ऑफिसरों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
सीआईसी ने नैशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) को फटकार लगाते हुए कहा था कि वह यह स्पष्ट करने पर विफल रहने कि आरोग्य सेतु ऐप का विकास किया है, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी (मेइटी) मंत्रालय, एनआईसी तथा राष्ट्रीय ई-अधिशासन प्रभाग (एनईजीडी) के मुख्य लोक सूचना अधिकारियों (सीपीआईओ) को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसके बाद मेइटी का यह बयान आया है।

पारदर्शी तरीके से हुआ ऐप का विकास’

मंत्रालय ने बयान में कहा, ‘यह स्पष्ट तौर पर उल्लेख किया गया है कि आरोग्य सेतु ऐप का विकास एनआईसी ने उद्योग और शैक्षणिक क्षेत्र के स्वयंसेवी लोगों के सहयोग से किया है। इस ऐप का विकास बेहद पारदर्शी तरीके से किया गया है।’ खबरों के अनुसार सीआईसी ने एनआईसी से यह स्पष्ट करने को कहा है कि उसके पास इस बात की जानकारी क्यों नहीं है कि ऐप का विकास किसने किया है, जबकि वेबसाइट पर बताया गया है कि इस मंच का डिजाइन, विकास एनआईसी के माध्यम से हुआ है।

सीआईसी के समक्ष पेश होने का आदेश
सीआईसी के आदेश के अनुसार मेइटी, एनईजीडी और एनआईसी के सीपीआईओ को 24 नंवबर, 2020 को उसके समक्ष पेश होने के लिए कहा गया है। मेइटी ने कहा कि वह इस आदेश के अनुपालन के लिए उचित कदम उठा रहा है। मेइटी ने कहा आरोग्य सेतु ऐप और देश में कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने में उसकी भूमिका को लेकर कोई संदेह नहीं होना चाहिए।

क्या है मामला
दरअसल सौरव दास नाम के एक शख्स ने चीफ इन्फॉर्मेशन कमिशन में शिकायत दर्ज कराई थी। दास ने दावा किया है कि उन्होंने आरोग्य सेतु ऐप को बनाने वाले के बारे में जानकारी के लिए एनआईसी, नैशनल ई-गवर्नेंस डिविजन और मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से संपर्क किया था। किसी रेस्ट्रॉन्ट, सिनेमा हॉल्स, मेट्रो स्टेशन जैसी जगहों पर जाने के लिए मोबाइल में इस ऐप का डाउनलोड होना जरूरी है।

क्या है आरोग्य सेतु ऐप?
बता दें कि कोविड-19 के कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से आरोग्य सेतु ऐप को बढ़ावा दिया गया है। आरोग्य सेतु ऐप की अहमियत का अंदाजा इसी से बात से लगाया जा सकता है कि हवाई यात्राओं से लेकर मेट्रो और ट्रेनों में सफर से पहले इसे डाउनलोड करना अनिवार्य है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बार-बार लोगों से ऐप को डाउनलोड करने की अपील कर चुके हैं।

Most Popular

वरिष्ठ शिक्षिका ने अपनी स्वर्गिय सास की स्मृति में करवाया विद्यालय में सरस्वती मंदिर का निर्माण

जे पी शर्मा बनेड़ा- पंचायत समिति क्षेत्र के रघुनाथपुरा गांव स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में वरिष्ठ अध्यापिका आशा पत्नी जगदीश लाल सोमानी ने अपनी...

संविधान दिवस पर बोले पीएम मोदी, यह संविधान निर्माताओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने का दिन

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संविधान दिवस के मौके पर बृहस्पतिवार को संविधान निर्माताओं को श्रद्धांजलि दी और कहा कि यह उनके सपनों के...

राष्ट्रीय दूध दिवस पर अमूल का फेसबुक लाइव, 30 राज्यों के शेफ बता रहे हैं दूध से बनी रेसिपी के बारे में…

जयपुर: 26 नवंबर को हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी राष्ट्रीय दूध दिवस मनाया जा रहा हैं. इस दिन डॉ. वर्गीज कुरियन की जयंती...

आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर किया हमला, गोलीबारी में एक जवान घायल

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर के परिम्पोरा से एक बड़ी खबर आई है, जहां कुछ आतंकवादियों ने अचानक सुरक्षाबल पर हमला कर दिया है, जिसमें सेना का एक...