Homeभरतपुरकरंट की चपेट में आने से लाइनमैन की मौत

करंट की चपेट में आने से लाइनमैन की मौत


करंट की चपेट में आने से लाइनमैन की मौत

परिजनों ने विभागीय अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप, एसई का किया घेराव

रितिक मेहता
डूंगरपुर, स्मार्ट हलचल। शहर के उत्तम मार्ग पर शनिवार दोपहर बिजली की पोल पर रखरखाव के कार्य के चढ़े बिजली के कार्मिक की करंट लगने से मौत हो गई। मौके पर मौजूद अन्य कार्मिको ने तत्परता दिखाते हुए विनायक को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डाॅक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया तथा शव को मोर्चरी में रखवाया गया।
सुरपुर गांव निवासी विनायक पुत्र नरेंद्र पाटीदार अपने पिता की मौत के बाद अनुकंपा नियुक्ति पर लाइनमैन लगा हुआ था। जानकारी अनुसार मानसून पूर्व बिजली के रखरखाव कार्य को लेकर शनिवार को शहर के उत्तम मार्ग पर नगर परिषद और बिजली विभाग के संयुक्त तत्वाधान में बिजली वायरों पर आसपास के पेड की कटाई का काम चल रहा था। इस दौरान बिजली विभाग की एक टीम भी मौके रह कर लाइनों को दुरूस्त करने काम कर रहे थे। लाइन के रखरवाव के लिए शट डाउन ले रखा था। इस दौरान विनायक पाटीदार हाथों गल्ब्स पहनकर लाइन को दुरुस्त करने के लिए पोल पर चढ हुआ था। इस दौरान अचानक से लाइन शुरू होने से विनायक को कंरट लगा और वह पोल से निचे गिर गया। मौके पर मौजूद अन्य कार्मिकों ने विनायाक को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां डाॅक्टरों ने जांच के बाद विनायक को मृत घोषित कर दिया तथा शव जिला अस्पताल में रखवाया गया।
परिजनो ने किया हंगामा
हादसे की सुचना जब विनायक के परिजनो के मीली तो अस्पताल मे मानो लोगों का तांता लग गया और परिजनो के रोने और बिलखने की आवाजें जोर जोरे से आने लगी। लाइनमैन की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल और विद्युत विभाग के कार्यालय के बाहर हंगामा कर दिया और निगम ऑफिस पर एसई का घेराव कर दिया। साथ ही दोषी कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने तक 33 केवी से शहर की बिजली आपूर्ति भी बंद कर दि गई प्रषासन द्वारा काफी समझाईष करने के बाद लगभग रात 7ः30 के बाद बिजली आपुर्ती बहाल की गई । परिजनो मे पोस्टमार्टम करवाने को लेकर और विभागीय लापरवाही को ले कर चर्चा बनी हुई थी। विनायक की मौत पर हंगामे की स्थीती तब ज्यादा उग्र हो गई जब विभागीय अधिकारीयों ने यह बताया की विनायक और उनकी टीम ने लाइन पर कार्य करने के लिए किसी भी प्रकार का कोई षटडाउन नही लिया था जबकि मौके पर मीली जानकारी के अनुसार टीम ने षटडाउन लेने के बाद ही कार्य षुरू किया था लेकिन फिर भी कार्य के दौराने अचानक लाइट चालु कैसे हो गई यह कई सवाल जरूर खडे करता है
अन्तीम जानकारी मीलने तक परिजन और विभागीय अधिकारीयों के बिच कष्मकष की स्थीती बनी हुई थी परिजनो ने विभागीय लापरवाही की जांच करने और दोषीयों के खिलाफ कडी कार्यवाही और मृतक के आश्रीत परिवार के लिए मुआवजे के साथ अनुकम्पा नियुक्ती की बात कही।

RELATED ARTICLES