previous arrow
next arrow
Slider
Home भीलवाड़ा पांच अभियानों के माध्यम से जागरूक कर रहे है अंशुल जैन

पांच अभियानों के माध्यम से जागरूक कर रहे है अंशुल जैन

अपने दुख में रोने वाले मुस्कुराना सीख ले
किसी दूसरे के दुख दर्द में आंसू बहाना सीख ले
यह जिंदगी सिर्फ चार दिनों की
तू किसी के काम आना सीख ले

भीलवाडा l यह पंक्तियां बहुत सटीक बैठती है अंशुल जैन बिजौलियां पर क्योंकि जिस उम्र में युवा अपनी बचत को बुरे व्यसन भोग विलासिता में खर्च कर देते हैं। वहीं 22 वर्षीय अंशुल जैन बिजौलियां अपनी बचत से एवम अन्य कामों से प्राप्त पैसों को बचाकर पिछले 6 वर्षों से समाजसेवा का अतुलनीय कार्य कर रहे हैं।
अंशुल जैन बिजौलियां के नेतृत्व में चलाए जा रहे अभियान
1. हर हाथ कलम अभियान (स्टेशनरी बैंक)- मिनी स्टेशनरी बैंक जरूरतमंद विद्यार्थियों की मदद करने का एक अनोखा माध्यम है। इस अभियान के तहत अब तक राजस्थान सहित कई राज्यों में सौ से अधिक मिनी स्टेशनरी बैंको की स्थापना भामाशाहो एवम शिक्षकों के सहयोग से की जा चुकी है। मिनी स्टेशनरी बैंक के माध्यम से जरूरतमंद विद्यार्थियों को पेन,पेंसिल,रबर,नोटबुक, वर्कबुक सहित अन्य विभिन्न प्रकार की शैक्षणिक सामग्री समय समय पर उपलब्ध करवाई जाती है।

2.वृक्षम अभियान- इस अभियान का प्रमुख उद्देश्य अधिक से अधिक छायादार एवं फलदार पेड़-पौधे लगाना है। यह अभियान प्रतिवर्ष जुलाई-अगस्त माह में मुख्य रूप से अधिक सक्रिय रहता है। जन्मदिन , वर्षगांठ, पर अभियान के माध्यम से पौधा रोपण का कार्य किया जा रहा है ।।पृथ्वी को हरा भरा बनाने में अभियान द्वारा अन्य ओर वांछित प्रयास किये जायेंगे । इसी वर्ष उत्कर्ष ग्रुप द्वारा तैयार इको फ्रेंडली 1000 सीड पेन पेंसिल का वितरण किया गया ।।

3.वस्त्रम अभियान- टीम द्वारा इस अभियान के अंतर्गत शीत काल में जरूरतमंदों को स्वेटर,जर्सी,कम्बल का वितरण किया जाता है जिस से वे भयंकर सर्दी से अपने तन को आहत होने से बचा सके । इस अभियान द्वारा सरकारी विद्यालयो में भी जरूरमंद विद्यार्थियों को स्वेटर एवं आवश्यक कपड़ों का वितरण किया जाता है। अब तक 1500 से अधिक कम्बल एवम 3000 से अधिक स्वेटर अभियान के माध्यम से वितरण किये जा चुके हैं।।

4.जीव दया अभियान- भयंकर गर्मी में मूक पशु-पक्षियों की प्यास एवं पेट की आग बुझाने हेतु परिण्डे एवं चुग्गापात्र लगाने के लिए इस अभियान द्वारा विभिन्न माध्यमों से लोगो को प्रेरित किया जाता है जिस से वे इस अभियान का हिस्सा बन के इस पूण्य कार्य मे अपना अनुपम सहयोग दे सके। इस अभियान के तहत वर्ष 2020 में देशभर के 8 से अधिक राज्यों में 5 हजार से अधिक परिण्डे एवं चुग्गापात्र लगाए जा चुके है।
साथ ही लॉकडाउन के दौरान टीम द्वारा प्रतियोगिता आयोजित कर स्कूली विद्यार्थियों को पक्षीघर बनाने हेतु भी प्रेरित किया गया जिस से उनकी सृजनात्मक कौशल के साथ साथ नैतिक विकास में भी वृद्धि हुई।

5.चरण कमल अभियान- इस अभियान के माध्यम से समय समय पर जरूरतमन्द विद्यार्थियों को जूते-चप्पल और मोजो का वितरण किया जाता है ताकि वे सर्दी एवं गर्मी से अपने पैरों का बचाव कर सके इसके साथ ही वे अन्य सक्षम बालको को देख हीन भावना का शिकार होने से बच सके।

6.ज्ञानम पहल- यह अभियान लॉकडाउन में अधिक सक्रिय रहा । इस दौरान विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पर ऑनलाइन चित्रकला एवं निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसके माध्यम से बालको के सृजनात्मक एवं नैतिक दृष्टिकोण से रूबरू होने का अवसर मिला। प्रतियोगिता ने सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागियों को टीम द्वारा सम्मानित किया गया जिस से वे भविष्य में और अधिक प्रेरित होकर चित्रों एवम लेखों के माध्यम से लोगो को सन्देश दे सके और अपने विचारों को साझा करने के लिए अपने आत्मविश्वास में वृद्धि कर सके।

7. शिक्षा दान की अनूठी पहल :- हर वर्ष मकर सक्रांति एवं बसंत पंचमी के पावन अवसर शिक्षा दान की पहल का आयोजन किया जाता है।। इस पहल से अब तक 7000 से अधिक बच्चें भामाशाहो एवं शिक्षको के अतुलनीय सहयोग से लाभान्वित हुवे है ।

हमारें अन्य चेनल देखने के लिए निचे दिए वाक्यों पर क्लिक करे
वीडयो चेनल, भीलवाड़ा समाचार,  सभी समाचारों के साथ नवीनतम जानकारियाँराष्ट्रीय खबरों के साथ जानकारियाँ, स्थानीय, धर्म, नवीनतम |

Most Popular