प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी रायला के किराणा व्यापारी कालाबाजारी करने से नही आ रहे बाज

राशन के सामान की भी रेट से पैसा अधिक वसूल रहे हैं

बेरा l भेरूलाल गुजेर

प्रशासन ने जिले में कहीं अभियान चलाकर कालाबाजारी करने वाले के ऊपर रोकथाम कर कार्रवाई करने के बाद भी बड़े थोक में बेचने वाले किराणा व्यापारी चोरी चुपके रेट से अधिक पैसा वसूलते हुए देखने को मिल जाएगा जनता पहले ही कोविड-19 की दूसरी लहर की चपेट से घरों में बंद है लोगों की रोजी-रोटी बंद है कैसे भी करके करोना कॉल को निकालने के लिए जनता अपना जैसे तैसे पेट पाल रही हैं और राशन के सामान खरीदने जाए तो बाजार में बैठे व्यापारी रेट से अधिक पैसा वसूलने में पीछे नहीं हट रहे हैं। कालाबाजारीयो पर प्रशासन कार्रवाई क्यों नहीं करता है ऐसा ही आज एक छोटे किराना दुकानदार पप्पू वैष्णव ने बताया कि मेरी गागलास गांव में छोटी किराने की दुकान है और मैं रायला कस्बे से सोमवार सुबह किराणा जनरल स्टोर हीरालाल ओम प्रकाश किराणा स्टोर से ₹6955 का सामान खरीद कर लेकर आया लेकिन मूल्य से अधिक पैसा चुकाना पड़ा जहां बड़े होलसेल की रेट से सामान बेचने का वादा करते हैं यह हीरालाल ओम प्रकाश किराना जनरल स्टोर से किराना एवं राशन के सामान लेने गया तो व्यापारी ने सभी सामान के रेट से अधिक मूल्य वसूल रहे हैं शक्कर ₹40 गुड 45 तेल चारभुजा 3000 रुपए बेकरी ₹25 चाय की पत्ती ढाई सौ ग्राम के ₹100 रुपए बिस्किट नमकीन ऐसे कहीं खाद्य किराना के सामान के मूल्य से अधिक रुपए ले रहे हैं व्यापारी को रेट से अधिक मूल्य लेने पर ग्राहक पप्पू वैष्णव ने पूछा तो सरकार ने लोक डाउन लगा रखा है आपको सामान चाहिए तो ले जाओ वरना रहने दो महंगा इसीलिए बेच रहे हैं कि आपको एनीटाइम सामान उपलब्ध हैं आप जब फोन कर रहे हो जब आपके लिए दुकान खोली जा रही है साहब इन कालाबाजारी ऊपर कार्रवाई क्यों नहीं होती है बड़े व्यापारी अगर महंगा किराने के सामान बेचेंगे तो छोटे व्यापारी गांव में ले जाकर किस रेट में बेचेंगे ऐसे ही जनता पहले ही दुखी हैं फिर इन बड़े व्यापारियों ने लोगों की जेब खाली करना शुरू कर दिया है जनता की अपील है कि प्रशासन दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें ताकि और दूसरे व्यापारियों को भी सबक लग जाएगी रेट से अधिक मूल्य वसूलने का नतीजा क्या होता है सरकार एक तरफ तो अभियान चलाकर इन कालाबाजारी ऊपर कार्रवाई का ढोंग कर रही हैं और दूसरी तरफ खुलेआम सरकार की गाइडलाइन की अवहेलना की जा रही हैं यह कालाबाजारी व्यापारी गुपचुप के शटर को बंद कर दुकान पर सामान बेचा जा रहा है