Homeभीलवाड़ाश्रीराम प्राण प्रतिष्ठा के साथ ही हुआ तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का...

श्रीराम प्राण प्रतिष्ठा के साथ ही हुआ तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का आग़ाज़

भीलवाड़ा 22 जनवरी 2024 । स्थानीय संगम विश्व विद्यालय प्रांगण में भगवान श्री राम के प्राण प्रतिष्ठान के साथ ही बेसिक ऐंड अप्लाइड साइंस के केन्द्रीय संयोजन में तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का शुभारंभ किया गया ।स्कूल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड साइंसेज विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड” (डीएसटी-एसईआरबी) भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा समर्थित “पर्यावरण के सतत विकास के लिए एप्लाइड साइंसेज में रिसेंट इनोवेशन एवं ट्रेंड्स पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ किया हुआ।अतिथि देवों भव की अवधारणा के अनुसार मंच पर मुख्य अतिथि का भार टेक्निकल यूनिवर्सिटी कोटा के कुलपति प्रोफ़ेसर एस के सिंह को प्रदान किया गया। भूतपूर्व कुलपति मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय प्रोफ़ेसर बीएल चौधरी का माल्यार्पण कर स्वागत किया गया।प्रोफ़ेसर आमेटा का माल्यार्पण उपर्णा के साथ स्वागत किया गया। वाईस चांसलर प्रोफ़ेसर मानस रंजन पाणिग्रही रजिस्ट्रार प्रो राजीव मेहता का भी स्वागत किया गया।कार्यक्रम संयोजिका आई क्यू ऐ सी हेड प्रोफ़ेसर प्रीति मेहता का स्वागत प्रोफ़ेसर अर्चना अग्रवाल ने किया । स्वागत उद्बोधन संगम विश्वविद्यालय के प्रो वाइसचांसलर प्रो. पाणिग्रही ने किया। उन्होंने सभी अतिथियों का संगम परिवार में हार्दिक अभिनंदन किया । प्रो प्रीति मेहता ने इस 3 दिवसीय संगोष्ठी के विभिन्न पहलुओं और संगोष्ठि की रूपरेखा प्रस्तुत की और साथ ही इस तीन दिवसीय संगोष्ठी में शोधार्थियों के आलेख से बने सोवेनियर का भी विधिवत लोकार्पण करवाया ,इसी श्रृंखला में प्रोफ़ेसर विनेश अग्रवाल ने विश्वविद्यालय के इंटरनेशनल जनरल जो की ऑनलाइन है उसका भी विधिवत उद्घाटन इस उद्घाटन सत्र में करवाया ,ततपश्चात कुलपति करुणेश सक्सेना द्वारा रिकॉर्ड किया गया उद्बोधन से सभी शोधार्थी को लाभान्वित किया गया।मुख्य आतिथ्य प्रोफ़ेसर डॉक्टर बीएल चौधरी ने अपने उद्बोधन में पर्यावरण की रक्षा हमारी नैतिक ज़िम्मेदारी होनी चाहिए। प्राकृतिक वातावरण को बनाए रखने की ज़िम्मेदारी हर भारतीय की है इस विषय पर गंभीरता से अपना उद्बोधन दिया ।प्रोफ़ेसर एस सी आमेटा ने सकारात्मक सोच और सकारात्मक पहलुओं को कैसे हो इस संगोष्ठी के माध्यम से अभिव्यक्त करना चाहिए अपने उद्बोधन में स्पष्ट किया।आर टी यू के कुलपति प्रो.एस.के सिंह ने विषय और संगोष्ठी की गंभीरता पर अपने विचार व्यक्त किए .

इस कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में प्रोफ़ेसर राजीव मेहता ने सभी आगंतुक मेहमानों का आभार व्यक्त करते हुए आज के दिन की सार्थकता व्यक्त की ,भगवान श्रीराम के स्थापना के साथ यह मंगल संयोग बना की तीन दिवसीय है यह संगोष्ठी अत्यंत सफल होगी ऐसी मंगलकामना व्यक्त की है । इस उद्घाटन सत्र में प्रोफ़ेसर आर एल पीतलिया और प्रोफ़ेसर आमेटा सम्मानित करने के पश्चात दिल्ली दूरदर्शन से लाइव राम जन्मभूमि बड़ी स्क्रीन पर सबको दिखाया गया।
इस उद्घाटन सत्र में विश्वविद्यालय के सभी संकायों के संकाय सदस्य उपस्थित थे। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉक्टर सीमा काबरा और डॉक्टर श्वेता बोहरा ने किया ।

RELATED ARTICLES