जब ठान ही लिया तो मंजिल पाकर ही कदम रुके-आचार्य दीदी

जब ठान ही लिया तो मंजिल पाकर ही कदम रुके-आचार्य दीदी

जयपुर। विश्वविख्यात ज्योतिषाचार्य एवं विप्र परशुराम शक्ति की संस्थापक अध्यक्ष डॉ. सरस्वती गौड़ ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयनित ब्राह्मण समाज की उन प्रतिभाओं को दोहरी शुभकामनाएं दी। जिन्होने दो दो जंग जीती है । आचार्य दीदी ने कहा एक जंग राजस्थान प्रशासनिक सेवा में चयनित होने की और दूसरी जंग आरक्षण की बेड़ियों में जकड़े होने के बाद भी स्वयं की मेहनत से,स्वयं के जज्बे से,विपरीत परिस्थिति का बखूबी सामना करके ये साबित करके दिखा देने की कि जब ठान लिया तो मंजिल पाकर ही कदम रुके आचार्य दीदी ने बताया हमारी प्रतिभाएं किसी भी क्षेत्र में सक्षम है। इन सभी होनहार प्रतिभाओं ने साबित कर के दिखा दिया है । उन्होने बताया इन प्रतिभाओं के चयन से समाज की नई पीढ़ी को एक सीख मिलती है ।और युवा पीढ़ी को इस सीख को ग्रहण करना है ताकि ऐसी प्रतिभाएं आगे आकर देशभर में ब्राह्मण समाज का नाम रोशन कर सकें!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here