previous arrow
next arrow
Slider
Home भीलवाड़ा सुकुमार के काव्य संग्रह छुअन का असर का विमोचन कल

सुकुमार के काव्य संग्रह छुअन का असर का विमोचन कल

भीलवाड़ा : राजकुमार गोयल
कविताओं की गुलकन्दी मिठास का अहसास कराता काव्य संग्रह
भीलवाड़ा. उपनगर पुर के युवा साहित्यकार रोहित विश्नोई ‘सुकुमार’ के काव्य संग्रह छुअन का असर का विमोचन प्रबुद्ध साहित्यकारों की उपस्थिति में मंगलवार को बसंत पंचमी के पावन अवसर पर किया जाएगा। युगीन कला साहित्य प्रवाह के बैनर तले प्रकाशित यह पुस्तक कविताओं की गुलकन्दी मिठास का अहसास कराती है। प्रवाह के संस्थापक योगेश दाधीच ‘योगसा’ ने बताया कि पुस्तक की भूमिका प्रसिद्ध गद्यकार सतीश कुमार व्यास ‘आस’ ने जबकि प्राक्कथन नीलम नितेश शर्मा ने लिखा है। पुस्तक का आवरण संयोजन परी ग्राफिक्स भीलवाड़ा एवं मुद्रण राजपूत ग्राफिक्स नई दिल्ली द्वारा किया गया है। इंजीनियरिंग के विद्यार्थी सुकुमार ने शुद्ध सात्विक प्रेम की पराकाष्ठा को मधुर शब्दों से कागज पर उकेरा है। समसामयिक संदर्भ और सामाजिक मुद्दों से भी सुकुमार की लेखनी अछूती नहीं है। युवा साहित्यकार सुकुमार को पहली पुस्तक के प्रकाशन पर पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह विश्नोई, पूर्व आरएएस और मीरा पुरस्कार से सम्मानित लेखक सवाई सिंह शेखावत, कई बेस्ट सेलिंग पुस्तकों के लेखक दिव्यप्रकाश दूबे, राष्ट्रीय बाल साहित्यकार डॉ सत्यनारायण सत्य, अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरणविद खमूराम विश्नोई, युगीन कला साहित्य प्रवाह के संरक्षक पूर्व एडीईओ गोपाल लाल दाधीच, फलौदी विधायक पब्बाराम विश्नोई, नोखा विधायक बिहारीलाल विश्नोई, विश्नोई महासभा के जिलाध्यक्ष अमरचंद विश्नोई, लेखक बनवारी कुमावत, असिस्टेंट प्रोफेसर सूर्य प्रकाश पारीक, पूर्व प्रधानाध्यापक गोपीलाल बलाई, कवि मोहन पुरी होड़ा, ट्रेवलिंग फूडी कमल रामवानी सारांश, कमल मेहता एवं रामावतार शर्मा ने बधाई दी।

Most Popular