बिजली का बिल देखकर उपभोक्ता को लगा करंट का झटका घर का बिल 3 लाख एक हजार आठ सौ अठारह रुपये

शक्करगढ़ / सांवरियां साल्वी
कोरोना संक्रमण काल में जब लोग बेरोजगार हो गए हैं और इनकम कम हो गई है ऐसे में मजदूरी करके घर का गुजारा चलाने वाले एक गरीब परिवार को अजमेर विद्युत निगम की लापरवाही के चलते बिजली का बिल देखकर करंट का झटका तब लगा जब उसके 3 लाख से ज्यादा का बिजली का बिल उसके घर पहुंचा।
मामला बेई पंचायत के माल का खेड़ा गाव के हजारीलाल मीणा पिता गोरुलाल मीणा का है उपभोक्ता हजारी ने बताया कि हर 2 माह में मेरे घर का औसतन बिल आठ सौ से एक हजार रुपये के बीच आता है। लेकिन अब की बार 3 लाख 1 हजार आठ सौ अठारह रुपये का बिल घर पहुंचा तो में ओर मेरा परिवार सदमे में है। घर में खाना नही बन रहा है सभी लोग बेचैन है। सबसे बड़ी लापरवाही बिजली विभाग के कार्मिकों की है जिन्होंने बिना देखे ही इतना बिल चढ़ा दिया जबकि वर्तमान में मीटर में 4110 यूनिट ही दर्शाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here