Homeराजस्थानचित्तौड़गढ़स्वामी सुख सम्पतराम जी महाराज की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन

स्वामी सुख सम्पतराम जी महाराज की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीन


स्वामी सुख सम्पतराम जी महाराज की पार्थिव देह पंचतत्व में विलीनः

श्रद्धांजलि व अंतिम विदाई देने पहुंचे बड़ी संख्या में श्रद्धालु,

मार्ग में ड्रोन से की पुष्प वर्षा,

नगर के व्यापारियों ने बिना आह्वान के बंद रखें अपने प्रतिष्ठान

बन्शीलाल धाकड़

बड़ीसादड़ी, स्मार्ट हलचल।श्री रामद्वारा दिव्य आनन्द धाम के वयोवृद्ध संत स्वामी सुख सम्पतराम की पार्थिव देह शुक्रवार को पंचतत्व में विलीन हो गई।नगर के दीनदयाल खेल मैदान के निकट उनका अंतिम संस्कार किया गया। नगर के 36 कौम ने दी अश्रुपूरित विदाई।
आपको बता दे की गुरुवार दोपहर दिवंगत संत के पार्थिव शरीर को शर रामद्वारा में भक्तों के दर्शनार्थ रखा गया।जहाँ हजारों की संख्या में भक्तों ने पहुंचकर उनके अंतिम दर्शन किये व श्रद्धांजलि अर्पित की।
शुक्रवार को उनके पार्थिव शरीर को बेवाण में लेकर मोक्षरथ में रखा गया।जिसे पूरे मार्ग में स्वयं नगरपालिकाध्यक्ष द्वारा चलाकर मोक्षधाम तक ले जाया गया।जिसमे सबसे आगे धार्मिक धुन बजाते हुए बेंड चल रहा था।उसके पीछे पुरुष,उनके बाद मोक्षरथ व महिलाएं चल रही थी।मोक्षरथ नगर के मुख्य मार्गों से होते हुए निकाला गया।जिसमें सम्पूर्ण मार्ग में नगरवासियों द्वारा स्वामी जी की पार्थिव देह पर पुष्पवर्षा कर अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी गई।इस दौरान सम्पूर्ण नगरवासी स्वामी जी अमर रहे के घोष करते हुए चल रहे थे।मार्ग में कौमी एकता की मिसाल पेश करते हुए मुस्लिम महासभा द्वारा पूज्य संत की पार्थिव देह पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। वही नगर के स्वामी सुदर्शनाचार्य महाराज ने गोपाल पुरुषोत्तम आश्रम के वहां से मोक्ष रथ पर ड्रोन से पुष्प वर्षा कर स्वामी जी को श्रद्धांजलि दी।और मोक्ष यात्रा में सम्मिलित हुए। पूरे नगर से होते हुए मोक्षरथ पंडित दीनदयाल खेल मैदान के पास बने अंतिम संस्कार स्थल पहुंचा।जहां रामस्नेही विभिन्न पीठों से आए पूज्य संतों के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चार के साथ उनके शिष्य स्वामी अनन्तराम द्वारा मुखाग्नि दी गई तो पूरा वातावरण गमगीन हो गया।
गौरतलब है कि इस महाप्रयाण यात्रा को लेकर नगर में बिना किसी आह्वान के नगर के समस्त व्यापारियों ने कार्यक्रम की समाप्ति तक अपने प्रतिष्ठान बंद रखें। स्वामीजी की इस महाप्रयाण यात्रा में नगर के गोपाल पुरुषोत्तम आश्रम के पीठाधीश्वर स्वामी सुदर्शनाचार्य महाराज,चेयरमेन विनोद कंठालिया, पूर्व विधायक ललित प्रदेश कांग्रेस सचिव पूर्व जिला परिषद सदस्य हनुमंत सिंह बोहेड़ा,प्रधान नन्दलाल मेनारिया,क्रय विक्रय सहकारी समिति अध्यक्ष शंभूलाल मेनारिया, पूर्व पालिका अध्यक्ष बिहारीलाल चौधरी,भाजपा जिला उपाध्यक्ष पुष्करराज माली ,नगर कांग्रेस अध्यक्ष रणजीत सिंह झाला, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष दिलीप चौधरी सहित समस्त पार्षदगण, समस्त समाज के प्रतिनिधि सहित सम्पूर्ण मेवाड़ के भक्तजन उपस्थित थे ।
महाप्रयाण यात्रा के पश्चात हुई शोकसभा में स्वामी सुदर्शनाचार्य ने दिवंगत स्वामी सुख सम्पतराम महाराज के जीवन पर जानकारी देते हुए कहा कि महाराज जी ने अपने जीवन के काल मे जो राम नाम जाप किया है वह शायद ही किसी ने किया होगा । वही शोक सभा में सहकारिता मंत्री बड़ी सादड़ी विधायक गौतम दक ने फोन पर संत की छतरी वाले स्थान पर ट्यूबवेल लगाने की घोषणा की। वहीं उपस्थित जनप्रतिनिधि व आम जनों ने संत की छतरी के तीन बीघा जमीन पर बाउंड्री वॉल बनाने हेतु सहयोग राशि की घोषणा की। इस पर नगर पालिका अध्यक्ष विनोद कंटालिया ने कहा कि जो भी राशि एकत्रित होगी बाउंड्री वॉल बनाने में उसमें 70% ऋषि नगर पालिका बड़ी सादड़ी द्वारा बाउंड्री वॉल बनाने में दी जाएगी 30% राशि जनप्रतिनिधि व आम जनों से ली जाएगी।

RELATED ARTICLES